Tag Archives: स्वादयुक्त मदिरा

स्वादयुक्त मदिरा (Flavored liquor)

स्वाद और सुगन्धयुक्त मदिरा या फ़्लेवर्ड लिकर (Flavored liquor) पिछले पोस्ट में बताये गये लिकूर से भिन्न होते हैं क्योंकि इनमें चीनी नहीं या फिर काफी कम मात्रा में होती है। ये सामान्यतया रंगहीन लिकर अर्थात वोडका और लाइट रम में कुछ स्वाद और सुगन्धित फलों, मसालों, जड़ी बूटियों का सार (essence) मिला कर बनाये जाते हैं। इनमें एल्कॉहल प्रायः मूल मदिरा से 2-5% तक कम होता है।

स्वादयुक्त मदिरा के कुछ मुख्य प्रकार निम्न हैं –

एब्सिन्थ (Absinthe): ये वॉर्मवुड (wormwood) या आर्टेमीसिया एब्सिन्थियम (Artemisia absinthium), सौंफ और कुछ अन्य जड़ी बूटियों से बनाया जाता है। इसका रंग हल्का हरा होता है।

अक्वावीट (Akvavit): ये मुख्यतः स्कैन्डिनीवियन देशों में आलू या अनाज की स्प्रिट और केरावे (caraway) के बीजों से बनायी जाने वाली मदिरा है।

ऐरेक (Arak): ये पूर्वी भूमध्यसागरीय देशों (सीरिया, लेबनान, इस्रायल, जार्डन आदि) में पी जाने वाली सौंफ के स्वाद की रंगहीन मदिरा है। यूनान में बनी ऊज़ो (Ouzo) भी इसी प्रकार की मदिरा है।

जिन (Gin): ये जूनिपर बेरी (juniper berry) के स्वाद की रंगहीन मदिरा है।

राकी (Raki): ये तुर्की की सौंफ़ के स्वाद की ब्रांडी है।

जीपोरो (Tsipouro): ये यूनान (Greece) की सौंफ के स्वाद वाली पामेस ब्रांडी (अंगूर का रस निकालने के बाद बचे अवशेष से बनी ब्रांडी) है। जीकोडिया (Tsikoudia) भी एक इससे मिलती जुलती मदिरा है।

फ़्लेवर्ड वोडका (Flavored vodka): वोडका अनेकों प्रकार के विभिन्न स्वादों में मिलता है। जिनमें से प्रमुख हैं नींबू, सन्तरा, सेब, रसभरी (Raspberry), वनीला और आड़ू। इसके अतिरिक्त ये मौसमी और अन्य खट्टे फल (Citrus fruits), स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, मुनक्का, किशमिश, कॉफ़ी, चॉकलेट, अनार, आलूबुखारा, नारियल, पोदीना, आम, गुलाब, केला इत्यादि के स्वाद में भी वोडका उपलब्ध है।

फ़्लेवर्ड रम (Flavored rum): वोडका की ही भाँति लाइट रम भी अनेकों स्वादों में मिलती है जिनमें नींबू, सन्तरा, नारियल, अनन्नास, वनीला और आम प्रमुख हैं। इसके अलावा बहुत सी लाइट और डार्क रम मसालों के स्वाद में भी मिलती है।

फ़्लेवर्ड टेक़ीला (Flavored tequila): टेक़ीला नींबू, सन्तरा, आम, नारियल, अनार कॉफ़ी और हरी मिर्च के स्वाद में मिलता है।

बिटर्स (Bitters): ये जड़ी बूटियों और खट्टे फलों का एल्कॉहल और/या ग्लिसरीन में मिला पेय है। इनका प्रयोग बहुत से कॉकटेल बनाने और भोजन के बाद पीने के अलावा अनेकों दवाओं में भी होता है।

1 टिप्पणी

Filed under मदिराओं के प्रकार