Category Archives: कॉकटेल

साइडर (Cider)

साइडर सेब के रस से बना एल्कॉहलीय या बिना एल्कॉहलीय पेय है। अमेरिका सहित कई देशों में एल्कॉहलीय साइडर को हार्ड साइडर कहते हैं। सेब के अतिरिक्त इसे बनाने में कभी कभी नाशपाती (Pear) का भी प्रयोग किया जाता है और इससे बने साइडर को पियर साइडर (Pear Cider) या पेरी (Perry) कहा जाता है। बिना एल्कॉहल का साइडर केवल सेब या सेब और नाशपाती के मिश्रण का प्रसंस्कृत रस (processed juice) होता है। एल्कॉहलीय साइडर सेब के रस के किण्वन से बनाया जाता है और इसमें 3 से 8 प्रतिशत तक एल्कॉहल होता है। साइडर इंग्लैंड सहित पश्चिमी यूरोपीय देशों में अधिक प्रचलित है। इसे बनाने के लिये कई विशेष प्रकार के मीठे और खट्टे सेबों के रस को मिलाया जाता है जिससे कि इसके स्वाद का अनूठापन हमेशा एक सा बना रहे और अलग अलग बैच के साइडर के स्वाद में विविधता न आये। इसका किण्वन भी सामान्य से कम ताप (5-15oC) पर किया जाता है ताकि स्वाद और महक बरकरार रहे। दिखने में ये स्पार्कलिंग वाइन या शैम्पेन की तरह लगता है।

6 टिप्पणियाँ

Filed under कॉकटेल, मदिराओं के प्रकार

जिन्जर एल (Ginger Ale)

जिन्जर एल (Ginger Ale) या जिंजर बीयर (Ginger Beer) अदरक से बना एक पेय है जिसमें बहुत कम मात्रा या न के बराबर एल्कॉहल होता है। इसका प्रयोग एक सॉफ़्ट ड्रिंक की भाँति पीने के अलावा बहुत से कॉकटेल बनाने में होता। ये बाजार में कुछ सुपर स्टोर्स में मिल सकता है। इसे बहुत ही आसानी के साथ घर पर भी बनाया जा सकता है। जिन्जर एल को अन्य खट्टे फलों (सन्तरा, अनन्नास, नींबू आदि) के रस के साथ वोडका, लाइट रम या जिन में स्वादानुसार मिलाकर पिया जा सकता है। इसके अलावा जिन्जर एल व्हिस्की में मिलाकर भी पिया जाता है।

प्रस्तुत है इसे बनाने की दो विधियाँ:

बिना एल्कॉहल का जिन्जर एल: प्राकृतिक या जैविक विधि

सामग्री – अदरक (2 बड़े चम्मच), चीनी (1 कप, 200 ग्राम), यीस्ट (1/4 चम्मच), नींबू (2 या 3), शुद्ध जल (2 लीटर)

बनाने का समय – 10 मिनट और उसके बाद 36 से 48 घंटे किण्वन के लिये

विधि – सबसे पहले दो लीटर की एक प्लास्टिक वाली सॉफ़्ट ड्रिंक की बोतल को अच्छी तरह से गर्म पानी से साफ कर लें। अब उसमें एक कप चीनी, 2 बड़े चम्मच पिसा या अच्छी तरह से कूटा हुआ ताजा अदरक, 20 से 30 मिली लीटर नींबू का रस और चौथाई चम्मच जीवित यीस्ट (बेकिंग के लिये प्रयोग होने वाला) डाल दें। अब उसमें बोतल की गर्दन तक पानी डालें और ऊपर लगभग एक से डेढ़ इंच जगह छोड़ दें। अब बोतल का ढक्कन अच्छी तरह से बन्द करके तब तक हिलायें जब तक कि चीनी घुल न जाय। अब इसे कमरे के ताप पर (18 से 28 oC) किण्वन के लिये छोड़ दें। ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में किण्वन के फलस्वरूप कार्बन डाई ऑक्साइड गैस और एल्कॉहल बनता है। समय समय पर बोतल को दबाकर देखें, यदि वह दब रही है तो इसका मतलब है कि अभी और किण्वन की आवश्यकता है। यदि सब कुछ सही रहा तो 36 से 48 घंटे में 2 लीटर जिन्जर एल तैयार हो जायेगा। इसके बाद इसे फ्रिज मे रख दें जिससे कि और किण्वन रुक जाय। यह एक प्राकृतिक रूप से कार्बोनेटेड पेय है और कोल्ड ड्रिंक का अच्छा विकल्प है।

सावधानी काँच की बोतल का प्रयोग कदापि न करें क्योंकि किण्वन के फलस्वरूप बनने वाली कार्बन डाई ऑक्साइड गैस से बने दबाव से उसके टूटने की प्रबल सम्भावना रहती है। यद्यपि इस विधि से बनाये गये जिन्जर एल के खराब होने की काफी कम सम्भावना है फिर भी प्रयोग की जाने वाली सभी चीजों की सफाई का ख़ास ध्यान दें क्योंकि अन्य अनुपयुक्त बैक्टीरिया भी जैविक क्रिया में भाग ले सकते हैं। इस प्रकार बने जिन्जर एल में 0.4% से कम एल्कॉहल होता है जोकि एक एल्कॉहलीय श्रेणी के पेय के लिये पर्याप्त नहीं है, परन्तु यदि आप एल्कॉहल के प्रति एलर्जिक हों या आपकी धार्मिक भावनायें किसी भी मात्रा में एल्कॉहल सेवन को निषिद्ध करती हैं तो इसका सेवन न करें।

बिना एल्कॉहल का जिन्जर एल: कृत्रिम विधि

सामग्री – अदरक (1 बड़ा चम्मच), चीनी (1 कप, 200 ग्राम), नींबू (2 या 3 नींबू) और सोडा वाटर (दो लीटर)

बनाने का समय – 30 मिनट

विधि – यदि आपके पास जिन्जर एल बनाने के लिये 2 दिन का समय न हो तो इस विधि का प्रयोग किया जा सकता है। इसके लिये पतीले में 2 कप पानी लेकर उसमें एक कप चीनी और एक बड़ा चम्मच अदरक कूटकर मिलायें और 5 मिनट के लिये तेज आँच पर उबालें। अच्छी तरह से मिलायें और ठंडा होने पर उसमें नींबू का रस मिला दें। अब इसमें ठंडा सोडा वाटर मिलाके इसे पिया जा सकता है। इस प्रकार से बने जिन्जर एल में एल्कॉहल बिल्कुल नहीं होता है। स्वाद के मामले में ये जैविक जिन्जर एल से थोड़ा निकृष्ट होता है परन्तु इसे बनाने के लिये 2 दिन की प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ती।

6 टिप्पणियाँ

Filed under कॉकटेल

कुछ और कॉकटेल

पिछ्ली पोस्ट में हमने 5 प्रमुख कॉकटेल बनाने की विधि जानी। आइये इस पोस्ट में 5 और प्रचलित कॉकटेल के बारे में जानते हैं।

ओल्ड फ़ैशन्ड कॉकटेल

ओल्ड फ़ैशन्ड कॉकटेल

6. ओल्ड फ़ैशन्ड कॉकटेल (Old Fashioned Cocktail)

सामग्री: व्हिस्की, चीनी, सन्तरे का टुकड़ा, एंगस्टूरा बिटर्स[1] (Angostura bitters), माराशीनो चेरी[2] (Maraschino cherry)

गिलास: ओल्ड फ़ैशन्ड ग्लास

ओल्ड फ़ैशन्ड ग्लास में एक चम्मच पिसी हुयी चीनी,  2 डैश[3] एंगस्टूरा बिटर्स और थोड़ा सा क्लब सोडा मिलाकर तब तक हिलाइये जब तक कि चीनी लगभग घुल न जाय।  अब गिलास को बर्फ़ से भर कर उसमें 2 आउन्स व्हिस्की और सन्तरे का टुकड़ा और माराशीनो चेरी डालकर परोसें।

डाइक्विरी

डाइक्विरी

7. डाइक्विरी (Daiquiri)

सामग्री: लाइट रम, नींबू का रस, चीनी

गिलास: मार्टीनी ग्लास

1.5 आउन्स लाइट रम, 0.5 आउन्स नींबू का रस, और एक चम्मच पिसी हुयी चीनी को बर्फ़ के टुकड़ों के साथ किसी बड़े बर्तन में अच्छी तरह से हिलाये जब तक कि चीनी पूरी तरह से घुल न जाय। अब मिश्रण मे से बर्फ़ को छानकर इसे पहले से ठंडा किये हुये मार्टीनी ग्लास में डालकर परोसें।

टॉम कॉलिंस

टॉम कॉलिंस

8. टॉम कॉलिंस (Tom Collins)

सामग्री: जिन, नींबू का रस, चीनी, क्लब सोडा, माराशीनो चेरी, सन्तरे का टुकड़ा

गिलास: कॉलिंस ग्लास

एक बड़े बर्तन में 2 आउन्स जिन, 1 आउन्स नींबू का रस, और एक चम्मच पिसी हुई चीनी को बर्फ़ के साथ मिला कर अच्छी तरह से हिलायें। अब मिश्रण को बर्फ़ से भरे गिलास में डालें और गिलास को सोडे से भर दें। उसके बाद चेरी और सन्तरे के टुकड़े से सजा कर परोसें।

यदि जिन के स्थान पर इसमें व्हिस्की (बरबन) का प्रयोग करें तो बने कॉकटेल को जॉन कालिंस (John Collins) कहते हैं।

व्हिस्की सोर

व्हिस्की सोर

9. व्हिस्की सोर (Whiskey Sour)

सामग्री: व्हिस्की, नींबू, चेरी, चीनी

गिलास: ओल्ड फ़ैशन्ड ग्लास

2 आउन्स व्हिस्की, 1 आउन्स नींबू का रस और एक चम्मच पिसी हुयी चीनी लेकर उसे अच्छी तरह से मिलाइये जब तक कि चीनी पूरी तरह से घुल न जाय। अब इसे बर्फ़ से भरे ओल्ड फ़ैशन्ड ग्लास में डाल दीजिये तथा चेरी और नींबू के टुकड़े से सजा कर परोसिये।

टेक़ीला सनराइज़

टेक़ीला सनराइज़

10. टेक़ीला सनराइज़ (Tequila Sunrise)

सामग्री: टेक़ीला, सन्तरे का रस, ग्रेनेडीन सीरप[4] (Grenadine syrup), चेरी, सन्तरे का टुकड़ा

गिलास: हाईबॉल ग्लास

1.5 आउन्स टेक़ीला और 3 आउन्स सन्तरे के रस को बर्फ़ से भरे हाईबॉल ग्लास में डालकर हिलाइये। अब गिलास को थोड़ा तिरछा करके उसमें आधा आउन्स ग्रेनेडीन सीरप ऐसे डालिये जिससे कि वह बिना मिले सीधे नीचे चला जाय और कॉकटेल को सूर्योदय जैसा रंग दे। अब इसे सन्तरे के टुकड़े व चेरी से सजाकर स्ट्रॉ के साथ परोसें।

__________

[1] एंगस्टूरा बिटर्स (Angostura bitters) 40 से अधिक जड़ी बूटियों और मसालों के निष्कर्ष से बना 44% एल्कॉहल युक्त बिटर है। इसका नाम वेनेजुएला के एंगस्टूरा शहर के नाम पर है।
[2] माराशीनो चेरी (Maraschino cherry) को बनाने के लिये चेरी को स्वाद युक्त चीनी के घोल में कुछ समय तक डुबाने के बाद सुखा कर बनाया जाता है। लाल माराशीनो चेरी सामान्यतया बादाम के स्वाद की और हरी माराशीनो चेरी पोदीना / मिन्ट के स्वाद की होती है।
[3] एक डैश (Dash) में लगभग 1/8 चाय की चम्मच या 1/48 आउन्स होता है। (1 dash = 0.62 ml)
[4] ग्रेनेडीन सीरप (Grenadine syrup) अनार के रस और शहद से बना गहरे लाल रंग का सीरप होता है जिसका प्रयोग कॉकटेल में मीठास के साथ लाल रंग लाने में किया जाता है।

5 टिप्पणियाँ

Filed under कॉकटेल

कॉकटेल (Cocktail)

मिश्रित एल्कॉहलिक पेय को कॉकटेल कहते हैं। इसमें एक या अधिक एल्कॉहलिक पेय (मदिरा) के साथ फलों का रस, सोडा, चीनी, बिटर्स[1] और मसाले मिले होते हैं। कॉकटेल सामान्यतया अधिक स्वादिष्ट और मीठे पेय होते हैं जो अक्सर पार्टी और उत्सवों में पिये जाते हैं। इन्हें बनाने में अपेक्षाकृत सस्ती मदिराओं का प्रयोग होता है और इनसे पर्याप्त मात्रा में जलीय और पोषक तत्व मिले होने के कारण इनके पीने से डीहाइड्रेशन और हैंगओवर की सम्भावना अपेक्षाकृत कम होती है।

कॉकटेल बनाते समय आप अपने स्वादानुसार प्रयोग करके अनेकों नये पेय बना सकते हैं। परन्तु इस प्रक्रिया में गलतीयों से बचने के लिये सबसे अच्छा तरीका है कि पहले आप प्रचलित कॉकटेल के बारे में जानिये और उससे मिलता जुलता आपको अच्छा लगने वाला मिश्रण तैयार कीजिये।

प्रस्तुत है सबसे अधिक प्रचलित और अपेक्षाकृत आसानी से बनाये जा सकने वाले 5 कॉकटेल।

मार्टीनी

मार्टीनी

1. मार्टीनी (Martini)

सामग्री: जिन[2] (Gin), ड्राई वरमूथ[3] (Dry Vermouth), जैतून (Olive)/नींबू का छिलका

गिलास: मार्टीनी ग्लास

1.5 आउन्स[4] (45 मिली) जिन और 0.75 आउन्स (22 मिली) ड्राई वरमूथ को अच्छी तरह से मिलाकर मार्टीनी ग्लास में जैतून या नींबू के छिलके के साथ परोसें। जिन के स्थान पर इसमें वोडका भी मिला सकते हैं, उस स्थिति में इसे वोडका मार्टीनी कहते हैं।

मोहीटो

मोहीटो

2. मोहीटो (Mojito)

सामग्री: लाइट रम, लाइम जूस, चीनी, क्लब सोडा, पोदीना पत्ती

गिलास: हाईबॉल ग्लास

सबसे पहले पोदीना पत्ती, दो चम्मच चीनी और थोड़ा सोडा वाटर मिलाकर चीनी को घुलने दें। अब उसमें बर्फ के टुकड़े, दो या तीन आउन्स लाइट रम और एक आउन्स लाइम जूस मिलाकर अच्छी तरह से हिलायें। अब पिसी हुई बर्फ से भरे हाईबाल ग्लास में इस मिश्रण को सोडे के साथ डालकर उसके ऊपर 2-3 पोदीना पत्ती के साथ परोसें।

पीना कोलाडा

पीना कोलाडा

3. पिना कोलाडा (Pina Colada)

सामग्री: लाइट रम, नारियल दूध (Coconut milk) या मालिबू रम, अनन्नास (Pineapple)

गिलास: हाईबॉल या कॉलिंस ग्लास

नारियल दूध ताजे नारियल के गूदे को बराबर मात्रा में पानी के साथ पीसने के बाद छानकर बनाया जाता है। यह नारियल पानी से अलग है। तो मोहीटो बनाने के लिये 3 आउन्स लाइट रम में 3 बड़े चम्मच नारियल दूध और 3 बड़े चम्मच अनन्नास के टुकड़े मिलाकर उसे मिक्सी में बर्फ के साथ बहुत कम समय के लिये पीसें और फिर गिलास में कुछ अनन्नास के टुकड़ों के साथ परोसें। नारियल दूध के स्थान पर मालिबू रम का भी प्रयोग किया जा सकता है। यह एक नारियल के स्वाद की लाइट रम है। इससे पिना कोलाडा बनाने के लिये दो भाग मालिबू रम में दो भाग अनन्नास का रस और एक भाग दूध या मलाई मिलाकर उसे बर्फ के साथ पीसते हैं।

मार्गरीटा ग्लास

मार्गरीटा ग्लास

4. मार्गरीटा (Margarita)

सामग्री: टेक़ीला[5], ट्रिपल सेक[6], लाइम जूस और नमक

गिलास: मार्गरीटा ग्लास

मार्गरीटा ग्लास के किनारे (rim) पर लाइम जूस लगा कर उसे नमक में डुबाइये जिससे नमक उसके किनारों पर चिपक जायेगा। अब 1.5 आउन्स टेक़ीला, 0.5 आउन्स ट्रिपल सेक और 1 आउन्स लाइम जूस मिलाकर अच्छी तरह से हिलाइये। अब इसे नमक लगे मार्गरीटा ग्लास में डालकर परोसें।

ब्लडी मेरी

ब्लडी मेरी

5. ब्लडी मेरी (Bloody Mary)

सामग्री: वोडका, टमाटर का रस, वॉस्टरशियर सॉस[7], टबास्को सॉस[8], नींबू, नमक, पिसी काली मिर्च

गिलास: ओल्ड फ़ैशन्ड ग्लास या हाईबॉल ग्लास

1.5 आउन्स वोडका, 3 आउन्स टमाटर का रस, आधे नींबू का रस, आधा चम्मच वॉस्टरशियर सॉस और 2-3 बूँद टबास्को सॉस मिलाकर अच्छी तरह से मिलायें। अब लोबॉल ग्लास के किनारों पर नींबू का रस लगाकर उस पर नमक चिपकायें और मिश्रण को गिलास में डालकर उसमें स्वादानुसार नमक और पिसी हुयी काली मिर्च के साथ परोसें।

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं। वर्ष 2009 आपके जीवन में सुख, समृद्धि और अपार खुशियाँ ले कर आये।

__________

[1] बिटर जड़ी-बूटियों और फलों के रस के मिश्रण से बने एल्कॉहलिक पेय को कहते हैं। इसका स्वाद कड़वा या कड़वा मीठा होता है। इसका प्रयोग कॉकटेल में एक अलग प्रकार का स्वाद लाने में होता है।
[2] जिन (Gin) जूनिपर बेरी और अनाजों से बनाई जाने वाली रंगहीन स्प्रिट है।
[3] वरमूथ (Vermouth) इटली की प्रसिद्ध फ़ोर्टीफ़ाइड वाइन है जिसमें सुगन्धित जड़ी बूटियाँ और मसाले मिले होते हैं। बिना मीठी वरमूथ को ड्राई वरमूथ कहते हैं।
[4] एक आउन्स में लगभग 30 मिली लीटर होते हैं (1 US fluid ounce = 29.5735296 ml)
[5] टेक़ीला या टक़ीला (Tequila) मैक्सिको में अगेव नामक पौधे से बनाई जाने वाली मदिरा है।
[6] ट्रिपल सेक (Triple sec) एक सन्तरे के स्वाद की मीठी मदिरा अर्थात लिकूर (liqueur) है। जो सूखे सन्तरे के छिलकों को ब्रांडी या लाइट रम में डालकर बनाया जाता है।
[7] वॉस्टरशियर सॉस (Worcestershire sauce) लहसुन, इमली, सोय सॉस, प्याज, सिरका, शीरा और नींबू आदि से मिलकर बना होता है। इसे सर्वप्रथम अंग्रेजों ने भारत में बनाया था और इसका नाम एक ब्रिटिश काउन्टी के नाम पर है जहाँ यह सबसे पहले बोतल बंद हुआ।
[8] टबास्को सॉस (Tabasco sauce) अमेरिका में पायी जाने वाली एक प्रकार की विशेष लाल मिर्च (टबास्को) और सिरके से बनाया जाता है।

2 टिप्पणियाँ

Filed under कॉकटेल