बियर (Beer)

बियर सम्भवतः विश्व की सबसे पुरानी मदिरा है जो मुख्यतः जौ, गेहूँ, मक्का इत्यादि अनाजों से बनायी जाती है। इतिहास में मेसोपोटामिया और प्राचीन मिस्र की सभ्यताओं में इसके प्रमाण हैं। पानी और चाय के बाद यह विश्व का तीसरा सबसे अधिक पिया जाने वाला पेय है। बियर अन्य मदिराओं की अपेक्षा काफ़ी कम समय में तैयार हो जाती है और अपेक्षाकृत सस्ती होती है। इसे अनाजों के आंशिक किण्वन और उसके बाद एक से दो सप्ताह के परिपक्वन से बनाया जाता है। मूलतः कोई भी आंशिक किण्वन से बनने वाली मदिरा जिसका आसवन न किया गया हो बियर कहलाती है।

सबसे पहले स्टार्च स्रोत (मुख्यतः यव्यित जौ) को गर्म पानी के साथ मिलाकर पीसते हैं एक से दो घंटों में स्टार्च शर्करा में परिवर्तित हो जाता है। उसके बाद मिश्रण को छानकर उसे करीब एक और घंटे के लिये उबाला जाता है जिससे कि उसमें उपस्थित एन्जाइम नष्ट हो जायें। इस मिश्रण को वोर्ट (wort) कहते हैं। अब वोर्ट में कुछ स्वाद वर्धक सामग्री जैसे हॉप (Hop) आदि मिलाकर उसे ठंडा करते हैं। इसके बाद उसमें खमीर या यीस्ट मिलाकर उसे एक से दो सप्ताह के लिये किण्वन हेतु रख देते हैं। इसके फलस्वरूप वोर्ट एक साफ द्रव में परिवर्तित हो जाता है जिसे बियर कहते हैं। किण्वन और परिपक्वन के समय निकलने वाली कार्बन डाई ऑक्साइड की वजह से बियर एक प्राकृतिक रूप से कार्बोनेटेड पेय है।

बियर के प्रकार: बियर मुख्यतः दो प्रकार की होती है एल (Ale) और लागर (Lager)। एल ऊपरी किण्वन करने वाले यीस्ट से बनाई जाती है जबकि लागर नीचले किण्वन करने वाले यीस्ट से बनाई जाती है। लागर बियर अपेक्षाकृत कम तापमान पर बनायी जाती है और यह अधिक प्रचलित है। बियर का रंग उसे बनाने में प्रयुक्त अनाज के रंग पर निर्भर करता है और हल्का पीले अम्बर रंग से गहरे काले रंग तक हो सकता है। गहरे रंग की बियर जिसे स्टाउट (stout) बियर भी कहते हैं भुनी हुयी जौ से बनाई जाती है।

बियर में एल्कोहल प्रतिशत 3 से 30% तक हो सकता है। परन्तु सामान्यतया लाइट बियर में 4% और स्ट्रॉंग बियर में 8% एल्कोहल होता है। जर्मन बियर सबसे प्रसिद्ध हैं। इसके अलावा बेल्जियम, आयरलैंड और अमेरिका बियर के मुख्य उत्पादक और उपभोक्ता हैं। विश्व के प्रमुख बियर ब्रांड्स में से कुछ है – बडवाइसर (Budweiser), कोरोना (Corona), हेनेकेन (Heineken), गिनेस (Guiness), सैम्यूअल एडम्स (Samuel Adams), मिलर (Miller), कूर्स (Coors), फ़ोस्टर (Fosters) और कार्ल्सबर्ग (Carlsberg)।

भारत में किंगफ़िशर, हेवर्ड्स, थंडरबोल्ट, गोल्डन ईगल, कल्यानी ब्लैक लेबल, गॉडफादर, फ़ोस्टर (ऑस्ट्रेलिया) और कार्ल्सबर्ग (डेन्मार्क) इत्यादि ब्रान्ड्स बाज़ार में उपलब्ध हैं। विभिन्न प्रदेशों मे कर भिन्नता के कारण 650 ml की बोतल का दाम 40 से 90 रुपये तक होता है।

बियर

बियर

Advertisements

टिप्पणी करे

Filed under बियर, मदिराओं के प्रकार

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s